ACHIEVEMENTS

विकास की पहल
* हमने आम जनता व वकीलों की सुविधा के लिए फतेहाबाद बार एसोसिएशन में 17 लाख रूपए की लागत से लिफ्ट लगवाई है।
* सिरसा, ऐलनाबाद, रानियां, फतेहाबाद, रतिया व टोहाना में हमने बार एसोसिएशनों में पुस्तकालयों की स्थापनी की है।
* हमने ऐलनाबाद, रतिया टोहाना व नरवाना स्थित नयायालयों में करोड़ों रूपए की लागत से नए परिसरों का निर्माण कराया है।
* ऐलनाबाद में एक नए डाकघर का निर्माण कार्य जल्द ही शुरू होने वाला है।
* शहरों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए हमने स्कूलों व सार्वजनिक दीवारों पर चित्रकारी करवाई है।
* टोहाना, रतिया शहर में अत्याधुनिक पार्क का निर्माणकार्य भी चल रहा है।
* फतेहाबाद में और सिरसा-भादरा रोड़ (बेगू रोड़) पर हैलोजन लाईटों द्वारा रोशनी की विशेष व्यवस्था की है।
* अपने संसदीय क्षेत्र की सभी अवैध कालोनियों को हम नियमित एवं विकसित कराने के लिए भरपूर प्रयास कर रहे हैं।
* हालांकि हमारे द्वारा किए काम की अभी शुरुआत है, लेकिन मुझे पूरा भरोसा है कि आपका सहयोग और आशीर्वाद विकास की इस नींव को मजबूती प्रदान करेगा। आपके सहयोग से ही हम मिलकर एक विशाल और भव्य ईमारत का निर्माण करेंगे।
* 2010 में लोकसभा क्षेत्र में घग्घर नदी में आई बाढ़ के दौरान पूरे एक महीने तक राहत व बचाव कार्य प्राथमिकता से करवाए गए व हरियाणा सरकार से बाढ़ पीड़ित किसानों एवं प्रभावित लोगों को उचित मुआवजा भी दिलवाया गया इससे लोकसभा क्षेत्र वासियों का जीवन फिर से सामान्य हुआ।
* संसदीय क्षेत्र की गौशालाओं में चारा गौदाम शैड एवं चारदिवारी के निर्माण के लिए 2 करोड़ से ज्यादा की सहायता राशि दी है। इसके अतिरिक्त निजी प्रयासों से फतेहाबाद में बनने वाली नंदीशाला के लिए मैंने माननीय मुख्यमंत्री जी से विशेष अनुरोध करके 11 लाख रूपए की शुरुआती राशि दिलवाई।
* भाखड़ा विस्थापितों से संबंधित कार्यलय को हिसार से फतेहाबाद स्थानान्तरित करवाया, ताकि संबंधित कार्य अपने ही जिले में आसानी से संपन्न हो सकें।
* सिरसा के गांव लूदेसर स्थित युद्ध-स्मारक को विकसित कर उसे राष्ट्रीय पहचान देने की योजना तैयार की है। इससे संबंधित प्रस्तावों को सरकार एवं सेना की स्वीकृति भी मिल चुकी है।
* लोकसभा क्षेत्र के अनेकों गांवों में श्मशान घाट की चारदिवारी एवं शेड निर्माण कार्य के लिए करोड़ों रूपए की सहायता दी गई है।
* संसदीय क्षेत्र के गांव-गांव में आवश्यकता अनुसार सामुदायिक भवनों व चौपालों का निर्माण करवाया गया।
* क्षेत्र के निजी शिक्षण संस्थानों एवं सभी समुदायों के सामाजिक संस्थानों के भवनों के निर्माण के लिए करोड़ों रूपए की राशि उपलब्ध करवाई गई है।
जय हिन्द!
ऊर्जा एवं शिक्षा
* गोरखपुर में 23,502 करोड़ रूपए की लागत से 1504 एकड़ भूमि में 2800 मेगावाद परमाणु बिजली घर का निर्माण कार्य प्रगति पर है।
* सिरसा संसदीय क्षेत्र में बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए 33,132,220,400 केवी बिजली घरों के निर्माण पर लगभग 600 करोड़ रूपए खर्च करवाए गए ।
* मैंने संसदीय क्षेत्र की ढाणियों में बिजली पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री जी से विशेष आग्रह कर नई योजना तैयार करवाई, जिसका कार्य फिलहाल, चल रहा है।
* हमारे प्रयास से गांव कुमथला (ऐलनाबाद) में 1 मेगावाट के सौर बिजली घर का निर्माण हुआ है।
शिक्षा * शिक्षा के क्षेत्र में भी हमारे संसदीय क्षेत्र ने अच्छी प्रगति की है। पहले आम जन के बच्चों को उच्च कोटी की शिक्षा नहीं मिल पाती थी। अब उच्च स्तर के शिक्षण संस्थान आपके क्षेत्र में जगह-जगह खुल रहे हैं। इन शिक्षण संस्थानों में बच्चों के लिए बेहतर शिक्षा के साथ-साथ रहने और खाने-पीने की भी अच्छी सुविधाए महैया कराई है।
* केंद्र सरकार ने 86 करोड़ रूपए की लागत पर हरियाणा में सर्वाधिक 12 कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों, 11 आरोही मॉडल स्कूलों और जवाहर नवोदय विद्यालय (गांव खाराखेड़ी ) की स्थापना की है।
* उच्च शिक्षा के विकास के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ चाटर्ड एकाऊंटेंट्स के कोचिंग सेंटर की स्थापना सिरसा में हो चुकी है। इसका भवन निर्माण शीघ्र होने जा रहा है।
* जिला फतेहाबाद के गांव बड़ोपल में केंद्रीय विद्याल और सिरसा के गांव बेहरवाला में किसान स्कूल खोलने का प्रयास चल रहा है।
* हमने डबवाली व रतिया में 2 नए सरकारी कॉलेजों के भवनों का निर्माण 30 करोड़ रूपए की लागत से करवाया। ऐलनाबाद में कॉलेज के भवन निर्मांण की प्रक्रिया चल रही है। हमें सिरसा में महिला कॉलेज की स्वीकृति भी प्राप्त हो चुकी है।
* डबवाली, टोहाना में पॉलीटैक्निक कॉलेजों की स्थापना का निर्णय हो चुका है तथा फतेहाबाद के गांव धांगड़ में निर्माण कार्य प्रगति पर है।
* संसदीय क्षेत्र में 2009 से अब तक 47 राजकीय विद्यालों को अपग्रेड करवाया गया है।
* क्षेत्र में सर्व शिक्षा अभियान के तहत 2009 से अब तक लगभग सभी गांवों में स्कूलों की बिल्डिंगों के निर्मांण व अन्य कार्यों पर 120 करोड़ रूपए खर्च किए गए है।
* क्षेत्र में कई आईटीआई संस्थानों को स्वीकृति मिली है। ओढ़ा में 6 करोड़ रूपए की लागत से और रतिया व भिरड़ाना में 12 करोड़ रूपए की लागत से इन संस्थानों का निर्माणकार्य चल रहा है। इसके अलावा रानियां, मसीतां, गदराना, ऐलनाबाद व जीवनगर में आईटीआई संस्थानों के प्रस्ताव को स्वीकृति मिल चुकी है, फतेहाबाद जिले में रतिया व टोहाना में हमारा प्रयास है कि जल्द ही आईटीआई स्वीकृति हों तथा निकट भविष्य में इनका निर्माण शुरू हो जाएगा।
* गवर्नमेंट पॉलीटैक्निक कॉलेज, सिरसा में अनुसूचित जाति की लड़कियों-लड़कों के लिए 11 करोड़ 25 लाख रूपए की लागत से अलग-अलग हॉस्टलों का निर्माण करवाया गया है।
* पिछले 5 सालों में हमने पढ़ाई-लिखाई को प्रोत्साहन देने के लिए सिरसा, ऐलनाबाद और डबवाली शहरों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 50 ई-पुस्तकालय खुलवाए हैं।
* आधुनिक शिक्षा के प्रसार के लिए सिरसा जिले के 60 स्कूलों में 1 करोड़ 70 लाख रूपए की लागत से 60 नॉलेज यंत्र लगवाए गए। इसके अलावा क्षेत्र के 71 स्कूलों में 2 करोड़ रूपए की राशि व अन्य सुविधाएं प्रदान की गई है।
* हमने नेशनल कॉलेज में 2 करोड़ 17 लाख रूपए की लागत से टीचिंग ब्लॉक का निर्माण करवाया है।
* डबवाली में लड़कियों के सीनियर सैकंडरी स्कूल के लिए 2 करोड़ 30 लाख रूपए की लागत से नए भवन का निर्माण करवाया गया।
खेल कूद
* फतेहाबाद जिले के दरियापुर गांव में राष्ट्रीय फुटबॉल एकेडमी एवं स्पोर्टस हॉस्टल के प्रस्ताव को 8 करोड़ रूपए की लागत से स्वीकृत करवाया गया। निर्माण कार्य जारी है।
* जीवननगर में 5 करोड़ रूपए की लागत से हॉकी एस्ट्रोट्रफ का निर्माण करवाया जा रहा है।
* युवाओं के बेहतर स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए क्षेत्र के 350 गांवों में 7 करोड़ रूपए की लागत से जिम बनवाए गए हैं।
* खेलों के महत्व को देखते हुए प्रत्येक गांव के युवाओं को क्रिकेट व वॉलीबाल किट बांटी गई है।
* केंद्र सरकार के सहयोग से क्षेत्र में खेलों के विकास के लिए प्रत्येक गांव को 1-1 लाख रूपए की आर्थिक सहायता दी गई है।
* हमारे प्रयासों से फतेहाबाद में नेहरू युवा केंद्र के कार्यलय की स्थापना हुई है।
* राष्ट्रमण्डल खेलों के दौरान भारत आई 'क्वीन्स बैटन' का गांव चौटाला के सांगरिया बॉर्डर पर जोरदार स्वागत किया। इसके साथ ही मुझे आपके साथ मिलकर पूरे लोकसभा क्षेत्र 'क्वीन्स बैटन' के जुलूस के नेतृत्व का सौभाग्य मिला।
* नरवाना के नवदीप स्टेडियम में बहुउद्देशीय हाल 1 करोड़ 25 लाख की लागत से बनवाया गया है।
जन स्वास्थ्य
काबिल हाथ - सुरक्षा साथ स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता एवं गंदे पानी की निकासी के प्रयास * स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए नए जलघरों के निर्माण व सीवरेज व्यवस्था में सुधार के लिए क्षेत्र में लगभग 500 करोड़ की राशि खर्च हुई है। इसका प्रयोग जिल सिरसा, फतेहाबाद व नरवाना के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में नए जलघरों के निर्माण एवं शहरी क्षेत्रों में नए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांटों को लगाने में किया गया है। इसके अतिरिक्त इस रकम से ढाणियों में पीने का पानी उपलब्ध करवाने और शहर की सभी कॉलोनियों में व ग्रामीण क्षेत्रों में नए टयूबवैल स्थापित करने का कार्य किया गया है।
* सांसद निधि से क्षेत्र में 22 पीने के पानी के टैंकर दिए गए हैं। इससे आम जनता को लाभ मिला है।
* अनुसूचित जाति के परिवारों के लिए पीने के पानी के 9815 मुफ्त कनैक्शन 3.32 करोड़ रूपए की लागत से लगवाए गए हैं।
* हमने चौपटा खंड के गांव नाथूसरी कलां एवं शक्करमंदौरी में बरसाती व गंदे पानी की निकासी का कार्य सांसद निधि से करवाया। हमने फतेहाबाद के गांव बोदीवाली को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में हरियाणा सरकार से चुनवाया।
* क्षेत्र के सेम-ग्रस्त गांव लोहगढ़ व दड़बा में नाबार्ड के सहयोग से सेम मुक्त करन का प्रयास किया है।
सड़क एवं परिवहन
* आपका प्रतिनिधि बनने के तुरन्त बाद मैंने केंद्रीय सड़क मंत्रालय से 350 करोड़ रूपए का शुरुआती पैकेज सड़क मार्ग को नाव चौड़ा करने के लिए उपलब्ध करवाया है।
* 1,381 करोड़ रूपए की लागत से डबवाली से हिसार तक 150 किमी लंबी सड़क को चारमार्गीय बनना स्वीकृत करवाया। इसके अलावा रोहतक से नरवाना होते हुए पंजाब बॉर्डर तक 757 करोड़ रूपए की लागत से फोरलेन राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण स्वीकृत हुआ। दोनों का कार्य प्रगति पर है।
* कैथल से राजस्थान बॉर्डर वाया नरवाना-सुरेवाला चौक तक चार मार्गीय सड़क मंजूर करवाई।
* हमारे प्रयासों से सिरसा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में 18.24 करोड़ रूपए की लागत से 35 नई सड़कों का निर्माण हुआ और 57 करोड़ रूपए की लागत से 282 सड़कों की मरम्मत का काम हुआ।
* रानियां से गांव कुत्ताबढ़ के बीच घघ्घर पर पुल का निर्माण जल्द ही शुरू होगा।
* ऐलनाबाद-सिरसा, उकलाना-नरवाना, नरवाना-टोहाना और सिरसा-पंजाब बॉर्डर तक की सड़कों का निर्माण कार्य प्राथमिकता पर करवाया।
* खालसा पंथ की 300 वीं वर्षगाठ से लेकर कई वर्षों तक सांगवान चौक से सड़क का नामकरण गुरू गोबिंद सिंह जी के नाम पर करने की मांग चली आ रही थी, हमने इसे मंजूर कराया।
* खालसा पंथ की 300वीं वर्षगांठ से लेकर कई वर्षों तक सांगवान चौक से सड़क का नामकरण गुरू गोबिंद सिंह के नाम पर करने की मांग चली आ रही थी, हमने इसे मंजूर करवाया।
कार्यशालाओं की पहल
सेमिनार एवं कार्यशालाएं * संसदीय क्षेत्र में "साक्षर भारत" बैनर के तहत सरपंचों, स्कूली अध्यापकों एवं स्कूल-प्रेरकों की कई बैठके आयोजित कराई।
* मनरेगा कानून पर सरपंचों, मेट्स एवं मजदूरों की बैठके आयोजित की गई।
* हमने लूदेसर में पूर्व- सैनिकों का भव्य सम्मेलन आयोजित किया।
* किसानों को आधुनिक कृषि तकनीकी का व्यवहारिक ज्ञान देने के लिए हमने कृषि क्षेत्र की अग्रणी कंपनियों के सहयोग से सिरसा में एक विशाल कृषि मेले का आयोजन किया।
* ग्रामीण क्षेत्रों में डेयरी उद्योग के विकास के लिए अलग-अलग समय पर कई कार्यशालाओं का आयोजन किया गया।
* राजस्थान की तर्ज पर जन-सुनवाई कानून बनाने को लेकर फतेहाबाद जिला के भरड़ाना, खाराखेड़ी और हजरावां आदि गांवों में जन-सुनवाई खिड़कियों
की स्थापना करवाई गई। इन खिड़कियों पर आप सोमवार से लेकर गुरुवार तक अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। प्रत्येक सप्ताह में प्राप्त हुई शिकायतों का जिला प्रशासन द्वारा आगामी शुक्रवार को समाधान किया जाता है। इस पहल की उपयोगिता को स्वीकार करते हुए माननीय मुख्यमंत्री जी ने हरियाणा में जन-सुनवाई कानून बनाने की पहल की है। हमें उम्मीद है कि जल्द ही हरियाणा में शिकायत निपटारे की गारंटी देने वाला जवाबदेही कानून और सशक्त होगा।
सड़क एवं परिवहन
* आपका प्रतिनिधि बनने के तुरन्त बाद मैंने केंद्रीय सड़क मंत्रालय से 350 करोड़ रूपए का शुरुआती पैकेज सड़क मार्ग को नाव चौड़ा करने के लिए उपलब्ध करवाया है।
* 1,381 करोड़ रूपए की लागत से डबवाली से हिसार तक 150 किमी लंबी सड़क को चारमार्गीय बनना स्वीकृत करवाया। इसके अलावा रोहतक से नरवाना होते हुए पंजाब बॉर्डर तक 757 करोड़ रूपए की लागत से फोरलेन राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण स्वीकृत हुआ। दोनों का कार्य प्रगति पर है।
* कैथल से राजस्थान बॉर्डर वाया नरवाना-सुरेवाला चौक तक चार मार्गीय सड़क मंजूर करवाई।
* हमारे प्रयासों से सिरसा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में 18.24 करोड़ रूपए की लागत से 35 नई सड़कों का निर्माण हुआ और 57 करोड़ रूपए की लागत से 282 सड़कों की मरम्मत का काम हुआ।
* रानियां से गांव कुत्ताबढ़ के बीच घघ्घर पर पुल का निर्माण जल्द ही शुरू होगा।
* ऐलनाबाद-सिरसा, उकलाना-नरवाना, नरवाना-टोहाना और सिरसा-पंजाब बॉर्डर तक की सड़कों का निर्माण कार्य प्राथमिकता पर करवाया।
* खालसा पंथ की 300 वीं वर्षगाठ से लेकर कई वर्षों तक सांगवान चौक से सड़क का नामकरण गुरू गोबिंद सिंह जी के नाम पर करने की मांग चली आ रही थी, हमने इसे मंजूर कराया।
* खालसा पंथ की 300वीं वर्षगांठ से लेकर कई वर्षों तक सांगवान चौक से सड़क का नामकरण गुरू गोबिंद सिंह के नाम पर करने की मांग चली आ रही थी, हमने इसे मंजूर करवाया।
चहूंमुखी विकास एवं ग्रामीण उत्थान
* मैंने माननीय मुख्यमंत्री जी से खास तौर पर आग्रह करके शहरी क्षेत्रों में गलियों के निर्माण और अन्य मूलभूत सुविधाओं के लिए पर्याप्त राशि उपलब्ध करवाई है।
* सिरसा शहर के 16 चौकों के सौन्दर्यीकरण का कार्य करवाया। प्रत्येक चौक के सौन्दर्यीकरण पर लगभग 15 लाख रूपए खर्च हुए।
* सिरसा रेलवे ओवरब्रिज के नीचे 20 लाख रूपए की लागत से फल-सब्जी मार्केट का निर्माण करवाया। फलस्वरूप 160 से अधिक रेहड़ी-पटरी वालों को लाभ पहुंचा।
* सिरसा श्मशान घाट में 1 करोड़ 20 लाख रूपए की लागत से बायो-मास प्लांट लगवाया जा रहा है।
*बकरियांवाली में बने कचरा प्लांट को पुन: चालू करवाने के लिए 1 करोड़ रूपए का अनुदान उपलब्ध करवाया।
* हमारे अनुरोध पर फ्लैग फाइण्डेशन ने चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय परिसर में राष्ट्रीय ध्वज की स्थापना की।
* फतेहाबाद की चिल्ली झील के सौन्दर्यीकरण के लिए विशेष प्रयास किया गया, जिसका कार्य प्रगति पर है।
ग्रामीण उत्थान के कार्य
* हमारे प्रयासों से फतेहाबाद जिले में 107, सिरसा जिले में 140, नरवाना में 9 राजीव गांधी सेवा केंद्रों का निर्माम 28 करोड़ रूपए की लागत से करवाया गया।
* ग्रामीण क्षेत्रों की गलियों एवं अन्य विकास कार्यों के लिए 100 करोड़ रूपए से अधिक का अनुदान उपलब्ध करवाया गया।
* संसदीय क्षेत्र में नौजवानों को जागरूक कर हमने सफाई व्यवस्था को सुनिश्चित किया एवं अच्छे पार्कों का निर्माण करवाया।
* क्षेत्र में अनुसूचित जाति के 25 लघुउघमियों को संगठित करके सिरसा के गांव दड़बी में 10 करोड़ रूपए की लागत से हॉजरी क्लस्टर विकसित किया गया जिसका भवन निर्माण कार्य प्रगति पर है।
* संसदीय क्षेत्र के प्रत्येक ब्लॉक में एक कुशलता विकास केंद्र की स्थापना की गई है। इनमें मुफ्त कंप्यूटर शिक्षा, सिलाई प्रशिक्षण व अंग्रेजी भाषा के प्रशिक्षण की व्यवस्था है।
* शिक्षित बेरोजगार युवाओं को निजी कंपनियों में रोजगार दिलाने के लिए करियर काउंसिलिंग सैमिनार आयोजित किए गए है।
* क्षेत्र के नौजवानों को सेना मे भर्ती करवाने के लिए फतेहाबाद और सिरसा में सेना की खुली भर्ती का आयोजन करवाया गया।
* सिरसा जिला में गरीब व असहाय लोगों के लिए 90 बैटरी-चालित गरूड़ रिक्शे वितरित करवाए हैं।
* संसदीय क्षेत्र की ग्रामीण महिलाओं के सशक्तिकरण और स्वरोजगार के लिए उन्हें स्वयं सहायता समूहों में संगठित करके तिलोनिया, राजस्थान में प्रशिक्षण दिलवाया गया।
चहूंमुखी विकागस के प्रयास
* राजीव आवास योजना के अन्तर्गत सिरसा शहर में 95 करोड़ रूपए की लागत से 2144 मकान बनवाने का कार्य आरम्भ करवाया। इसका द्वितीय चरण भी मंजूर हो चुका है।
* सिरसा में सरकारी कर्मचारियों के लिए 16 करोड़ रूपए की लागत से 130 मकानों का निर्माण करवाया गया।
स्वस्थ सिरसा लोकसभा
स्वस्थ सिरसा संसदीय क्षेत्र * स्वस्थ सिरसा अभियान के तहत कई स्वास्थ्य शिविर लगवाए गए। इनमें दिल्ली, चंडीगढ़, जयपुर व लुधियाना से आये हु्ए स्पैश्लिस्ट डॉक्टरों ने हजारों लोगों का फ्री चेकअप किया एवं नि:शुल्क दवाईयां भी बांटी।
* हमें हर्ष है कि मोबाईल मेडिकल यूनिट की सेवा सिरसा में बड़ागुढ़ा\ओढ़ा व ऐलनाबाद\चौपटा खंड में निजी प्रयासों से शुरू हुई है।
* फतेहाबाद के जिला अस्पताल की क्षमता को 50 से 100 बिस्तर करवाया गया। फतेहाबाद के नए विस्तारित भवन का निर्माण हुड्डा सैक्टर 9 फतेहाबाद में 15 एकड़ भूमि में जल्द शुरू होगा।
* प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का निर्माण कार्य फतेहाबाद जिले के गांव पीलीमंदौरी, हसंगा, अहरवां महमड़ा में प्रगति पर है।
* सिरसा जिले के गांव धौतड़ में प्राईमरी हैल्थ सेंटर का शुभारंभ हो चुका है। गांव बणी व गंगा में इनका निर्माण करवाया गया है।
* आपकी आवश्यकता को ध्यान में रखकर फतेहाबाद जिले में 57 व सिरसा जिले में 7 नए उप-स्वास्थ्य केंद्रों का निर्माण करवाया गया है।
* नाथुसरी चोपटा में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को मंजूरी मिल चुकी है, इसका भवन निर्माण शीघ्र ही शुरू होगा।
* डी.ई.आई.सी. को सिरसा में मंजूरी दिलाई, जिसका निर्माण 25 लाख रूपए की से शीघ्र शुरू होगा।
* प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से संसदीय क्षेत्र के सैंकड़ों गंभीर रोगियों को विशेष वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई गई।
विकास की रेल
* हमारे प्रयासों के फलस्वरूप रेल बजट में देशभर के लिए प्रस्तावित 25 राष्ट्रीय कौशल विकास केंद्रों में से एक केंद्र की स्थापना सिरसा में की जाएगी।
* जाखल-लुधियाना रेल लाईन के विद्युतीकरण का कार्य 126 करोड़ रूपए की लागत से मंजूर हो चुका है।
* अग्रोहा-फतेहाबाद-सिरसा रेलवे लाइन की मांग काफी समय से की जा रही थी। हमारे निरन्तर प्रयास से और आप सभी के समर्थन और आशीर्वाद से इस रेलवे लाईन को रेल बजट में स्वीकृति मिल चुकी है और सर्वे का कार्य प्रगति पर है।
* हमने सिरसा में रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण 34.22 करोड़ रूपए की लागत से करवाया।
* डबवाली में भी रेलव ओवरब्रिज का निर्माण 85 करोड़ रूपए की लागत से प्रगति पर है।
*ऐलनाबाद-हनुमानगढ़ रेल लाइन को मीटरगेज से ब्रॉडगेज बनाने का कार्य प्रगति पर है।
* सिरसा से लुधियाना तक नई यात्री गाड़ी की प्रतिदिन सेवा आरंभ करवाई।
* जाखल व भट्टू में 1-1 एवं नरवाना में 2 रेलवे ओवरब्रिजों को फोरलेन निर्माण योजना के अन्तर्गत स्वीकृत करवाया।
* सिरसा रेलवे स्टेशन को मॉडल स्टेशन के रूप में विकसित करवाया।
* डबवाली- कालांवली रेलवे लाईन का प्रस्ताव योजना आयोग में विचाराधीन है।
* सिरसा जिले के डिंग मंडी में रेलवे अंडरब्रिज का निर्माण 1 करोड़ 25 लाख रूपए की लागत से हुआ। कालांवली, ऐलनाबाद, तलवाड़ा तथा कुदनी (टोहाना) और अन्य कई इलाकों में भी रेलवे अंडरब्रिजों का निर्माण शीघ्र शुरू होगा।